Good morning mumbai from lage raho munna bhai

Good Moooorrrninggggg!! Mumbai, excerpts from
lage raho munna bhai movie :-

शहर की इस दौड़ में दौड़ के करना क्या है?
गर यही जीना है दोस्तों, तो फिर मरना क्या है?

पहली बारिश में ट्रेन लेट होने की फ़िक्र है,
भूल गए भीगते हुए टहलना क्या है?

सिरिअल्स के किरदारों का सारा हाल है मालूम,
पर माँ का हाल पूछने की फुर्सत कहाँ है?

अब रेत पे नंगे पाँव टहलते क्यूँ नही?
108 है चैनल, पर दिल बहलते क्यूँ नही?

इंटरनेट पे दुनिया से तो टच में हैं,
लेकिन पड़ोस में कौन रहता है, जानते तक नही|

मोबाइल, लैंडलाइन, सब की भरमार है,
लेकिन जिगरी दोस्त तक पहुंचे, ऐसे तार कहाँ है?

कब डूबते हुए सूरज को देखा था, याद है?
कब जाना था शाम का गुज़रना क्या है?

तो दोस्तों शहर की इस दौड़ में दौड़ के करना क्या है|
गर यही जीना है, तो फिर मरना क्या है?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *